Computer Network Topology in Hindi

“टोपोलॉजी एक कंप्यूटर नेटवर्क के लेआउट को संदर्भित करता है।”

What is Topology in Hindi?

  • नेटवर्क टोपोलॉजी विभिन्न नोड्स या टर्मिनल को आपस में जोड़ने का तरीका है ।
  • यह विभिन्न नोड्स के बीच भौतिक संरचना को दर्शाता है ।
  • कम्प्यूटरों का आपस में जुड़ने का ढंग ही नेटवर्क टोपोलॉजी कहलाता है ।
  • Computers को आपस में जोडने एवं उसमें डाटा Flow की विधि टोपोलोजी कहलाती है।
  • टोपोलॉजी किसी नेटवर्क में कम्प्यूटर के ज्यामिति व्यवस्था (Geometric arrangement) को कहते है |
  • टोपोलॉजी नेटवर्क की संरचना को परिभाषित करती है कि सभी घटक एक दूसरे से कैसे जुड़े हैं।
  • एक ऐसी व्यवस्था जिसमे कंप्यूटर सिस्टम या नेटवर्क डिवाइस एक दूसरे से जुड़े होते हैं ।उसे हम नेटवर्क टोपोलोजी कहते है |
  • किसी भी नेटवर्क के भौतिक और तार्किक दोनों पहलुओं को टोपोलोजी के माध्यम से परिभाषित किया जाता है।
  • दोनों PHYSICAL AND LOGICAL Topology एक ही नेटवर्क में समान या अलग भी हो सकते हैं।

Type Of Network Topology in Hindi(नेटवर्क टोपोलोजी के प्रकार हिन्दी मे)

  • नेटवर्क टोपोलोजी मुख्यतः दो प्रकार की होती है
    • भौतिक टोपोलॉजी
    • तार्किक टोपोलॉजी

Physical Topology( भौतिक टोपोलॉजी )

  • भौतिक टोपोलॉजी एक नेटवर्क में सभी नोड्स का ज्यामितीय प्रतिनिधित्व है।
  • Physical Topology मुख्यतः निम्न प्रकार की होती है
    • Bus
    • Star
    • Ring
    • Mesh
    • Tree
    • Hybrid

Bus Topology(Bus Network Topology in Hindi)

बस टोपोलॉजी, नेटवर्क टोपोलॉजी का प्रकार है जिसमें हर कंप्यूटर और नेटवर्क डिवाइस सिंगल केबल से जुड़ा होता है। जब इसके पास दो अंत बिंदु होते हैं, तो इसे रैखिक बस टोपोलॉजी कहा जाता है।

Bus Network Topology in Hindi
Bus Network Topology in Hindi
  • Bus Topology में एक ही Cable का प्रयोग होता है और सभी Computer’s को एक ही Cable से एक ही क्रम में जोड़ा जाता है।  Bus Topology, LAN का एक arrangement होता है जिसमे प्रत्येक node , एक main cable और link से connected होता है जिसको बस कहा जाता है इसमें कोई भी Device दुसरे Device से Data प्राप्त करना चाहता है तो उसे देखना पड़ेगा की Network खाली है या नहीं Network खाली होने पर ही Data प्राप्त किया जा सकता है।
  • BUS TOPOLOGY मे DATA एक ही दिशा मे ट्रान्सफर होता है |
  • BUS TOPOLOGY मे प्रयोग होने बाली मुख्य CABLE को BACKBONE कहा जाता है |
  • BUS TOPOLOGY मे SENDER से RECEIVER तक डाटा BACKBONE के माध्यम से जाता है |
  • BACKBONE के लिए “THICK CO-axial” cable का प्रयोग किया जाता है |
  • BACKBONE के Start तथा End में एक विशेष प्रकार का Device लगा होता है जिसे टर्मिनेटर (Terminator) कहते है।
  • TERMINATOR का कार्य SIGNAL को CONTROL करना होता है|
  • BUS TOPOLOGY मे प्रयोग होने वाले कम्प्युटर को NODE बोला जाता है
  • BUS TOPOLOGY में सभी नोड्स एक ही केवल में जुड़े रहते हैं
characteristic of Bus Topology
  • बस टोपोलॉजी को इस तरह से डिज़ाइन किया जाता है कि सभी स्टेशन एक ही केबल के माध्यम से जुड़े हुए हो |
  • इस केबल को बैकबोन केबल कहा जाता है।
  • बैकबोन केबल से प्रत्येक नोड ,ड्रॉप केबल से जुड़ा होता है या सीधे बैकबोन केबल से
  • जब नोड नेटवर्क पर एक संदेश भेजना चाहता है, तो यह नेटवर्क पर एक संदेश डालता है। नेटवर्क में उपलब्ध सभी स्टेशनों को यह संदेश प्राप्त होगा कि इसे संबोधित किया गया है या नहीं।
  • बस टोपोलॉजी का उपयोग मुख्य रूप से 802.3 (ईथरनेट) और 802.4 मानक नेटवर्क में किया जाता है।
  • बस टोपोलॉजी का विन्यास अन्य टोपोलॉजी की तुलना में काफी सरल है।
  • बैकबोन केबल को “सिंगल लेन” माना जाता है, जिसके माध्यम से सभी स्टेशनों पर संदेश प्रसारित किया जाता है।
  • बस टोपोलॉजी की सबसे आम पहुंच विधि CSMA (कैरियर सेंस मल्टीपल एक्सेस) है।
Advantage of Bus Topology (बस टोपोलॉजी के लाभ):
  • बस टोपोलॉजी मे डिवाइस को नेटवर्क से कनेक्ट करना आसान है।
  • किसी भी अन्य डिवाइस को प्रभावित किए बिना नेटवर्क में उपकरणों को कनेक्ट करना या निकालना आसान है।
  • किसी भी कंप्यूटर या डिवाइस की विफलता के मामले में, अन्य उपकरणों या नेटवर्क पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।
  • अन्य नेटवर्क टोपोलॉजी यानी Mesh और Star की तुलना में केबल की लागत कम होती है।
  • टोपोलॉजी को समझना आसान है।
  • दो केबलों को एक साथ जोड़कर विस्तार करना आसान है
Disadvantage of Bus Topology (बस टोपोलॉजी के नुकसान)
  • किसी भी उपकरण की विफलता के मामले में, एक नेटवर्क में दोष ढूंढना मुश्किल है।
  • यदि बैकबोन केबल को नुकसान पहुंचाता है तो पूरा सिस्टम / नेटवर्क विफल हो जाएगा।
  • यदि नेटवर्क ट्रैफ़िक बढ़ता है या डिवाइस बढ़ते हैं, तो नेटवर्क का प्रदर्शन कम हो जाता है।
  • संकेतों की उछाल को रोकने के लिए उचित समाप्ति की आवश्यकता है। टर्मिनेटर का उपयोग एक जरूरी है।
  • यह धीमा है क्योंकि एक समय में एक कंप्यूटर संचारित होता है।
  • यह बहुत कम सुरक्षा प्रदान करता है क्योंकि सभी कंप्यूटर स्रोत से भेजे गए संकेत प्राप्त करते हैं।
  • केबल की लंबाई सीमित है

Ring Topology(Ring Network Topology in Hindi)

रिंग टोपोलॉजी, जिसे रिंग नेटवर्क के रूप में भी जाना जाता है, एक प्रकार का नेटवर्क टोपोलॉजी है | जहां प्रत्येक नोड दो अन्य नोड्स ( forward and backward ) से जुड़ा होता है | इस प्रकार सिग्नल ट्रांसमिशन के लिए एक एकल निरंतर पथ बनता है।

(Ring Network Topology in Hindi
(Ring Network Topology in Hindi
  • डेटा प्रवाह के आधार पर दो प्रकार के रिंग टोपोलॉजी हैं
    • Unidirectional
    • Bidirectional

Characteristic of Ring Topology

  • रिंग टोपोलॉजी एक बस टोपोलॉजी की तरह है, लेकिन जुड़े हुए सिरों के साथ।
  • पिछले कंप्यूटर से संदेश प्राप्त करने वाला नोड अगले नोड पर फिर से चला जाएगा।
  • डेटा एक दिशा में बहता है, यानी, यह यूनिडायरेक्शनल है।
  • डेटा एक एकल लूप में बहता है जिसे लगातार एक अंतहीन लूप के रूप में जाना जाता है।
  • इसका कोई समाप्ति छोर नहीं है, अर्थात, प्रत्येक नोड अन्य नोड से जुड़ा हुआ है और कोई समाप्ति बिंदु नहीं है।
  • रिंग टोपोलॉजी में डेटा एक दक्षिणावर्त दिशा में प्रवाहित होता है।
  • रिंग टोपोलॉजी की सबसे आम पहुंच विधि टोकन पासिंग है।

Advantage of Ring Topology

  • Heavy network लोड के case मे bus topology से better परफॉर्म करता है |
  • सभी कनेक्टेड नोड्स को कंट्रोल करने के लिए इसमे एक सेंट्रल नोड की जरूरत नहीं होती |
  • It is quite easy to install and reconfigure क्योकि नई node को add या remove करने के लिए केवल दो कनेक्शन को मूव करने के जरूरत होती है |
  • यह orderly and arranged network होता है जिसमे सभी नोड्स को टोकन का बराबर एक्सेस and opportunity to transmit होता है |
  • Ring Topology को Bus Topology की तुलना में Manage करना आसान है
  • Ring Topology के Installation में खर्चा काम होता हैं
  • बहुत Reliable और Network में अच्छी Speed प्रदान करता है
  • Network में Traffic की बड़ी मात्रा को सभाल (Handle) सकता हैं

Disadvantage of Ring Topology

  • Ring Topology में Troubleshooting करना काफी Difficult है
  • Ring Topology में डिवाइस को Connect य Disconnect करने से सारा Networks Disturbs होता हैं
  • एक ख़राब Device सारे Network को फेल कर सकती हैं

Star Topology (Star Network Topology in Hindi)

Star Network Topology in Hindi
star topology
  • इस नेटवर्क में एक होस्ट कम्प्यूटर होता है
  • जिसे सीधे विभिन्न लोकल कंप्यूटरो से जोड़ दिया जाता है |
  • लोकल कम्प्यूटर आपस में एक-दुसरे से नही जुड़े होते हैं इनको आपस में होस्ट कम्प्यूटर द्वारा जोड़ा जाता है |
  • होस्ट कम्प्यूटर द्वारा ही पूरे नेटवर्क को कंट्रोल किया जाता है |
Advantage of Star Topology (STAR TOPOLOGY के लाभ)
  • इसको Install करना काफी आसान (Easy) हैं |
  • Star Topology के द्वारा सारे Network को Centralized Manage किया जा सकता हैं |
  • Star Topology के द्वारा Network को आसानी से बड़ा किया जा सकता हैं
  • अगर Network ने कोई समस्या (Problem) आती है तोFaulty Devices को ढूढ़ना (Search) आसान हैं |
  • चलते हुए Network में Device को Connect और Remove करने से Network पर कोई फर्क नहीं पड़ता                                          
Disadvantage of Star Topology (STAR TOPOLOGY की कमी)
  • Network को बनाने के लिए ज्यादा Cables कि आवश्यकता होती हैं
  • Centralize Device (Hub or switch) में समस्या आ जाने से सारा Network Fail हो जाता हैं

MESH TOPOLOGY(Mesh Network Topology in Hindi)

mesh topology
  • इस नेटवर्क में एक होस्ट कम्प्यूटर होता है
  • जिसे सीधे विभिन्न लोकल कंप्यूटरो से जोड़ दिया जाता है |
  • लोकल कम्प्यूटर आपस में एक-दुसरे से नही जुड़े होते हैं
  • इनको आपस में होस्ट कम्प्यूटर द्वारा जोड़ा जाता है |
  • होस्ट कम्प्यूटर द्वारा ही पूरे नेटवर्क को कंट्रोल किया जाता है
Advantage of Mesh Topology (MESH TOPOLOGY के लाभ)
  • नेटवर्क में Information को शेयर करने के लिए बहुत सारे रास्ते मिल जाते हैं
  • सुरक्षा (Security) और गोपनीयता (Privacy) प्रदान करता है
  • Detect Device का पता लगाने में आसानी होती हैं
Disadvantage of Mesh Topology (MESH TOPOLOGY की हानि)
  • Mesh topology को Network Implement करने के लिए बहुत Cables और NIC Card की आवश्यकता पड़ती हैं
  • Mesh topology काफीExpensive होती हैं

 TREE TOPOLOGY(Tree Network Topology in Hindi)

  • Bus Topology और Star Topology का प्रयोग करके जो Topology Create की जाती है उसे Tree Topology कहते है|
  • इसमें Star Topology की तरह एक Host Computer होता है और Bus Topology की तरह सारे Computer एक ही Cable से जुड़े रहते हैं|
  • यह Network एक पेड़ (Tree) के समान दिखाई देता हैं|  इस Topology में  Twisted Pair Cable का प्रयोग किया जाता है|
tree topology
Advantage of Tree Topology (TREE TOPOLOGY के लाभ)
  • Easy to expend a network
  • इसको Install करना काफी आसान हैं |
  • अगर Network में कोई समस्या आती है तोFaulty Devices को ढूढ़ना (Search) करना आसान हैं |
Disadvantage Of Tree Topology(TREE TOPOLOGY की हानि)
  • इसकी Installation बहुत कठिनहै |
  • Backbone Cable में Issue आ जाने से सारा Network Fail हो जाता हैं
  • अन्य Topology के मुकाबलेExpensive हैं |

HYBRID TOPOLOGY

  • अलग-अलग प्रकार की Topology को मिलाकर जो Topology बनाई जाती है उसको Hybrid Topology   कहते हैं
  •  यदि एक Office में Ring Topology का उपयोग किया जाता है और एक में  Star Topology का उपयोग किया जाता है, तो इन Topology को जोड़ने (Connect) से  जो  Topology बनती हैं वह Hybrid Topology होती हैं|
  • यह Topology Corporate Offices के लिए काफी Useful होती है|
Advantage of Hybrid Topology (HYBRID TOPOLOGY के लाभ)
  • यह Topology बड़े Office के Network के लिए काफी अच्छी हैं |
  • बड़े volume of traffic को हैंडल करने में काफी सहायक हैं |
  • नेटवर्क में faulty device को ढूढना आसान हैं |
  • यदि नेटवर्क के किसी भी हिस्से में गलती होती है, तो बाकी नेटवर्क के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ेगा।
Disadvantage of Hybrid Topology (HYBRID TOPOLOGY की हानि)
  • यह काफी Expensive हैं |
  • इसकी Structure काफी Complex होता हैं |
  • Installation और Configuration करना बहुत ही  Difficult हैं |

यह भी देखे

Operating System MCQ के लिए यह लिंक देखे

Logical Topology

  • एक तार्किक टोपोलॉजी नेटवर्किंग में एक अवधारणा है जो एक नेटवर्क में सभी नोड्स के लिए संचार तंत्र की वास्तुकला को परिभाषित करती है। राउटर और स्विच जैसे नेटवर्क उपकरण का उपयोग करना, नेटवर्क की तार्किक टोपोलॉजी को गतिशील रूप से बनाए रखा और पुन: कॉन्फ़िगर किया जा सकता है।

बिभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओ मे पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण बिन्दु

  • नेटवर्क का फ़िज़िकल या लॉजिकल arrangement क्या कहलाता है ?
    • Topology
  • Star topology मे एक central controller या हब होता है
  • बस topology मे multi point connection होते है |
  • Bus topology को multi-point topology भी कहते है |
  • Mesh topology मे प्रत्येक डिवाइस की एक multi-point linking टोपोलोगी होती है|
  • Bus , Ring एवं Star topology का उपयोग LAN मे किया जाता है |
  • COAXIAL CABLE का उपयोग BUS topology मे किया जाता है |
  • स्टार एवं रिंग टोपोलोजी के लिए ट्वीस्टेड पेयर केबल अच्छी होती है |
  • ट्री टोपोलोजी को बस टोपोलोजी का बिस्तरत रूप भी बोलते है |
  • रिंग टोपोलोजी मे repeater तीन मोड पर काम करता है
  • रिंग टोपोलोजी के तीन मोड listen, Transmit एवं Bypass होते है |
  • रिंग टोपोलोजी unidirectional (एक ही दिशा मे) होती है |
  • Unguided media , स्टार टोपोलोजी के लिए अच्छी है |
  • बस टोपोलोजी मे प्रत्येक नोड(टर्मिनल), backbone से TAP (T कनैक्टर) से जुड़े होते है |
  • स्टार टोपोलोजी मे डिवाइस एवं हब के मध्य पॉइंट टू पॉइंट कनैक्शन होता है |
  • रिंग टोपोलोजी , ब्रॉडकास्ट नही होती |
  • FDDI मे रिंग टोपोलोजी का उपयोग किया जाता है |
  • Ethernet के द्वारा बस टोपोलोजी का उपयोग किया जाता है

Computer Network Topology in Hindi

अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है|  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट Computer Network Topology in Hindi आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks ! दोस्तो daily update के लिए आप हमसे (e-prepation.com)  Facebook पर भी जुड़ सकते है | दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट Computer Network Topology in Hindi अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट Computer Network Topology in Hindi को Facebook पर Share अवश्य करें !

Leave a Reply