Transmission Modes in Computer Network (Simplex, Half-Duplex and Full-Duplex) in Hindi

What is Transmission modes in Computer Network ?

“ट्रांसमिशन मोड(Transmission Mode) एक नेटवर्क पर जुड़े दो उपकरणों के बीच डेटा के Transfer को दर्शाता है। इसे Communication mode (संचार मोड) भी कहा जाता है। ये मोड Information (सूचना) के प्रवाह की दिशा को दर्शाते हैं। “

Type of Transmission modes in Computer Network ?

ट्रांसमिशन मोड (Transmission Mode) तीन प्रकार के होते हैं। वो हैं

  • Simplex Mode
  • Half duplex Mode
  • Full duplex Mode
Transmission modes in Computer Network ?
Transmission modes in Computer Network

Simplex mode

  • Simplex मोड में कम्‍युनिकेशन एक ही दिशा में हो सकता है।
  • Simplex मोड मे एक बस क प्रयोग किया जाता है |
  • रिसीवर ट्रांसमिटिंग डिवाइस से सिग्नल प्राप्त करता है।
  • सिम्प्लेक्स मोड़ मे रिसीवर डाटा को send नही कर सकता |
  • सिम्प्लेक्स मोड में एक उपकरण डाटा ट्रांसमीट कर सकता है और दूसरा उसे रिसीव कर सकता है।
  • सिम्प्लेक्स मोड पूरी क्षमता का इस्तेमाल डाटा को एक दिशा में भेजने के लिए कर सकता है।
  • उदाहरण – कीबोर्ड और पुराने मॉनिटर, टेलीवीजन,रेडियो,अखबार।

Advantage of Simplex mode:

  • सिंप्लेक्स मोड में, स्टेशन Communication Line की संपूर्ण बैंडविड्थ का उपयोग कर सकता है, ताकि एक बार में अधिक डेटा प्रसारित किया जा सके।

Disadvantage of Simplex mode:

  • संचार यूनिडायरेक्शनल (Unidirectional) है, इसलिए इसमें उपकरणों के बीच कोई inter Communication नहीं है।

Half-Duplex mode

  • Half duplex मोड में कम्‍युनिकेशन दोनों दिशा में हो सकता है।
  • Half डुप्लेक्स मोड मे भी एक बस का ही प्रयोग किया जाता है |
  • हाफ डुप्लेक्स मोड मे सेंडर एवं रिसीवर दोनों ही डाटा को send और receive दोनों ही कर सकते है| लेकिन एक बार मे एक ही process होती है |
  • उदाहरण – वॉकी टॉकी

Advantage of Half-duplex mode

  • Half-Duplex mode में, दोनों डिवाइस डेटा भेज और प्राप्त कर सकते हैं और डेटा के प्रसारण के दौरान Communication Line की संपूर्ण बैंडविड्थ का भी उपयोग कर सकते हैं।

Disadvantage of Half-duplex mode

  • Half-Duplex mode में, जब एक डिवाइस डेटा भेज रहा होता है, तो दूसरे को इंतजार करना पड़ता है, इससे सही समय पर डेटा भेजने में देरी होती है।

यह भी देखे

Full-duplex mode

  • Full डुप्लेक्स मोड मे दो बस का प्रयोग किया जाता है |
  • हाफ डुप्लेक्स मोड मे सेंडर एवं रिसीवर दोनों ही डाटा को send और receive एक साथ कर सकते है|
  • Full duplex मोड में कम्‍युनिकेशन दोनों दिशा में हो सकता है।|
  • उदाहरण-टेलीफोन

Advantage of Full-duplex mode:

  • दोनों स्टेशन एक ही समय पर डेटा भेज और प्राप्त कर सकते हैं।

Disadvantage of Full-duplex mode:

  • यदि उपकरणों के बीच कोई समर्पित पथ मौजूद नहीं है, तो संचार चैनल की क्षमता को दो भागों में विभाजित किया गया है।

Transmission modes in Computer Network ?

अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है|  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट Transmission Modes in Computer Network (Simplex, Half-Duplex and Full-Duplex) in Hindi आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks ! दोस्तो daily update के लिए आप हमसे (e-prepation.com)  Facebook पर भी जुड़ सकते है | दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट Transmission Modes in Computer Network (Simplex, Half-Duplex and Full-Duplex) in Hindi अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट Transmission Modes in Computer Network (Simplex, Half-Duplex and Full-Duplex) in Hindi को Facebook पर Share अवश्य करें !

Leave a Reply